भारतीय रिजर्व बैंक

बैंक के कर्मचारियों द्वारा सभी ग्राहकों को सभी प्रकार की सेवाएं देने का प्रावधान है लेकिन अगर बैंक कर्मचारी अपनी सर्विस से देने से मना करते हैं या भारतीय रिजर्व बैंक के नियम और शर्तों को नहीं मानते हैं और उनके द्वारा बनाई गई शर्तों के अनुसार कार्य नहीं करते हैं जिससे ग्राहक को परेशानी होती है तो ग्राहक बैंकिंग लोकपाल के तहत अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है। आइए जान लेते हैं आप अपनी शिकायत किस तरीके से करेंगे और किन किन कारणों पर आप बैंकिंग लोकपाल की शरण ले सकते हैं। जब भी आपको बैंक की तरफ से कोई भी समस्या होती है या बैंक के कर्मचारी आपकी नहीं सुनते हैं तो आप पहले स्तर पर बैंक में ही अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं इसमें बैंक के पास आपको शिकायत पत्र देना है जिसमें आपकी सारी शिकायतें लिखी होनी चाहिए अगर आपका यहां से कोई भी समाधान नहीं होता है तो आप नीचे दिया गया दूसरा तरीका अपना सकते हैं

अगर आपका पहले बताए गए तरीके से बैंक की समस्या का निराकरण नहीं होता है तो आप उस बैंक के कस्टमर केयर को संपर्क करके अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं और साथ में आपको उनसे कंप्लेंट नंबर भी ले लेना है और यह कंप्लेंट नंबर आप भविष्य में हमेशा संभाल कर रखें जिससे कि आपको बार-बार बैंक को अपनी समस्या नहीं बतानी होंगी अगर आप का समाधान इन दोनों तरीकों से नहीं होता है तो आप बैंकिंग लोकपाल की शरण ले सकते हैं। बैंक लोकपाल भारतीय रिजर्व बैंक के द्वारा सभी Bank के ग्राहकों को समस्या का समाधान करने के लिए बनाया गया है जिसमें अगर किसी बैंक के ग्राहक को बैंक की तरफ से कोई भी समस्या होती है तो वह यहां पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है जिसका समाधान उसको 30 से 45 दिन के अंदर कर दिया जाएगा चलिए नीचे जान लेते हैं आप किन-किन कारणों को लेकर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं

अगर आपको चेक ड्राफ्ट बिल आदि के भुगतान में देरी हो रही है तो आप बैंकिंग लोकपाल की शरण ले सकते हैं। अगर बैंक रिजर्व बैंक की ब्याज दरों के निर्देशों का पालन नहीं करती है तो आप बैंकिंग लोकपाल शरण ले सकते हैं। अगर बैंक रिज़र्व बैंक / सरकार द्वारा आवश्यक करों के भुगतान को स्वीकार करने में स्वीकार करने या देरी से इनकार करता है तो अब बैंकिंग लोकपाल की शरण ले सकते हैं। अगर आपके बैंक खाते में से आपको बिना सूचना दिए पैसे निकाल लिए जाते हैं तो भी आप बैंकिंग लोकपाल की शरण ले सकते हैं । अगर आपको बिना नोटिस दिए बिना बताए आपका बैंक खाता बंद कर दिया है तो भी आप बैंकिंग लोकपाल की शरण ले सकते हैं। अगर आप लोन लेने के योग्य हैं और आपको बैंक लोन देने से मना कर रहा है और रिशपत की मांग कर रहा है तो भी आप बैंकिंग लोकपाल की शरण दे सकते हैं । एटीएम / डेबिट कार्ड संचालन या क्रेडिट कार्ड संचालन पर रिज़र्व बैंक के निर्देशों के लिए बैंक या सहायक कंपनियां इसका पालन नहीं करती हैं तो भी आप बैंकिंग लोकपाल जा सकते हैं । बैंकिंग लोकपाल उन मामलों को भी निपटाता है जो कि रिजर्व बैंक समय-समय पर नियम को लागू करती रहती है

कैसे करें कॉल – हर बैंक के भीतर उसके बैंकिंग लोकपाल का नंबर लिखा होता है। बस उस नंबर पर फोन करें और अपनी समस्या बताएं। अगर बैंक अधिकारी का दोष होगा तो उसकी नौकरी उससे छीन ली जाएगी। ज्यादा से ज्यादा लोगों तक इस खबर को पहुंचाएं ताकि कोई बैंक में परेशान ना हो।

News and Media Source – LiveBavaal

LEAVE A REPLY