जुलाई मासिक राशिफल 2020

0
62

निम्नलिखित राशिफल वर्तमान ग्रहों के गोचर का आपकी जन्म राशि, जिसे चन्द्रराशि भी कहते हैं पर पडऩे वाले प्रभावों को दर्शाता है। आपकी जन्मपत्रिका के हिसाब से इसमें कम, ज्यादा अन्तर आने की सम्भावना हो सकती है।

-आचार्य अनुपम जौली

मेष राशि (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ)

इस माह का पूर्वार्द्ध आपके पराक्रम में वृद्धि कराएगा और सामाजिक कार्यों में व्यस्त भी करेगा l राशी स्वामी मंगल मीन राशी में कुछ संघर्ष के साथ ही कार्यों को सम्पन्न कराएगा l इस माह यात्रा व खर्चों के योग बन रहे है l दशम भाव में वक्री शनि और नवम भाव में वक्री गुरु कार्यक्षेत्र में कुछ परिवर्तन करवा सकता है l धर्मिक कार्यों में रुझान बढेगा l मित्रों से कुछ कष्ट की सम्भावना है अत: सम्भलकर रहें l परिवार और दाम्पत्य जीवन के लिहाज से समय आपके पक्ष का है l माह के उत्तरार्ध में मानसिक चिन्ताओं में वृद्धि के योग है l

माह को उत्तम बनाने हेतु उपाय : सूर्य देव को प्रतिदिन जल चढ़ाए  l

वृषभ राशि (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)

इस माह किसी शुभ सूचना का संचार होगा l स्वगृही शुक्र आपको कलात्मक और सृजनात्मक शक्ति से भरपूर रक्खेगा l पारिवारिक चिंताए उभरने के योग बन रहे है l शिक्षा में अवरोध बना रहेगा l निवेश और यात्रा संभलकर करें अन्यथा अष्टम में वक्री गुरु और केतु कोई न कोई नुकसान दे सकते है l तोल मोल कर बोले अन्यथा खमियाजा भुगतना पढ़ सकता है l माह के उत्तरार्ध में आपका पक्ष मजबूत होगा और कोई लाभकारी प्रस्ताव प्राप्त होगा l जीवनसाथी के सहयोग से लाभ का मार्ग प्रशस्त होगा l

माह को उत्तम बनाने हेतु उपाय : नरसिंह गायत्री या नरसिंह स्तोत्र का पाठ करें l

मिथुन राशि (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह)

इस माह स्वास्थ्य का पाया कमजोर है अत: संभलकर चलें l स्वयं के लिए गए निर्णयों से कष्ट की सम्भावना है इसलिए परिवार के बुजुर्गों की सलाह से ही आगे बढ़ें l वैवाहिक जीवन में भी उतार चढाव बना रहेगा l विलासिता पर खर्चे होंगें l सार्वजनिक कार्यों में कठिनाई और गुप रूप से किये कार्यों में सफलता के योग बन रहे है l अपने क्रोध पर नियंत्रण रखें l नौकरीपेशा लीगों के लिए भी समय संघर्ष से भरा हैl मित्रों का सहयोग मिलेगाl महीने के उत्तरार्ध में परिवार सम्बन्धी चिंताएं बढ़ सकती है l

माह को उत्तम बनाने हेतु उपाय : विपदाओं से बचने के लिए हनुमान चालीसा का पाठ करें l

कर्क राशि (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)

इस माह खर्चे और इनकम दोनों में उन्नत्ति के योग बन रहे है जहाँ आर्थिक लाभ के अवसर बनेंगें वहीँ फालतू खर्चों का भी योग बन रहा है l इस माह कोर्ट कचहरी या शत्रुवर्ग कुछ परेशान कर सकता है l शिक्षा व प्रेम प्रसंगों के लिहाज से यह महिना शुभ फलदाई है l जमीन, मकान व वाहन सम्बन्धी शुभ योग बन रहे है l माह के उत्तरार्ध में कुछ लाभकारी प्रस्ताव प्राप्त होंगें l मित्रों का व्यवहार चिंता का कारण बनेगा l अभी यात्रा टालने में ही भलाई है अन्यथा अत्यधिक कष्टों का सामना करना पढ़ सकता है l

माह को उत्तम बनाने हेतु उपाय : श्रीसूक्त के पाठ करें आपको माँ लक्ष्मी जी का आशीर्वाद प्राप्त होगा l

सिंह राशि (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)

यह माह करियर के लिहाज से उत्तरोत्तर उन्नत्तिदायक है l आर्थिक उन्नत्ति के भी अच्छे योग बन रहे है l शिक्षा और प्रेम संबंधों में अचानक से बाधाओं का सामना करना पढ़ सकता है l भाग्येश मंगल के आठवें भाव से भ्रमण के कारण यदा कदा हाथ में आये अवसर से भी हाथ धोना पढ़ सकता है l अपनी वाणी में मिठास लायें अन्यथा संबंधों में खटास आ सकती है l शत्रुवर्ग घटिया तरीकों से आपको परेशान कर सकता है l माह के उत्तरार्ध से खर्चों में बढोत्तरी भी होने लगेगी इसलिए बजट बनाकर चलने में ही भलाई है l

माह को उत्तम बनाने हेतु उपाय : कुल के देवी, देवता का पूजन आपको विपदा से बचा सकता हैl

कन्या राशि (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)

यह महिना छोटी मोटी अडचनों व उतार चढाव के साथ शुभ फलदाई है l आपके व्यवहार में आये कुछ परिवर्तन आपके कार्यक्षेत्र को प्रभावित कर सकते है अत: आपको सकारात्मक बनना होगा l जमीन मकान सम्बन्धी कुछ उलझाने भी बढ़ सकती है l वैवाहिक जीवन में भी कुछ परेशानियों का सामना करना पढ़ सकता है l माह के उत्तरार्ध में आर्थिक रूप से कोई अच्छे प्रस्ताव प्राप्त होंगें l शिक्षा के लिहाज से समय ठीक ठाक चल रहा है l प्रेम प्रसंगों में आपकी लापरवाही संबंधों में खटास दे सकती है अत: सावधान रहे l

माह को उत्तम बनाने हेतु उपाय : माँ काली की पूजा करें या काली चालीसा का पाठ करें l

तुला राशि (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)

यह माह आपको धैर्य पूर्वक बिताना है l भाग्य का स्वामी बुध वक्री होकर भाग्य स्थान में राहू के साथ बैठा है अत: कुछ उतार चड़ाव बना रहेगा l राशी स्वामी अष्टम में बैठा है इसलिए स्वयं के निर्णय कष्टकारी या हानिप्रद हो सकते है l वैवाहिक जीवन का स्वामी मंगल शत्रु भाव में बैठा है इसलिए वैवाहिक जीवन में भी कुछ समस्याओं का सामना करना पढ़ सकता है l बाहर से कोई भी मदद संभव नहीं है l माह के उत्तरार्ध में नौकरीपेशा लोगों के लिए कोई शुभ सुचना का संचार होगा l

माह को उत्तम बनाने हेतु उपाय : समय को अनुकूल बनाने के लिए भगवान शिव या माँ काली की उपासना करें l

वृश्चिक राशि (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)

इस माह धर्म सम्बन्धी कार्यों में अभिरुचि बनी रहेगी l वाहन चलाना और आर्थिक निवेश करना दोनों में ही समय जोखिमपूर्ण है l वैवाहिक जीवन में जीवनसाथी का भरपूर सहयोग मिलेगा l अपनी वस्तुए संभलकर चलें अन्यथा कोई छोटी मोटी चोरी आपको नुकसान पंहुचा सकती है l परिवार के अन्दर सदस्यों में और प्रोपर्टी के मामलों में उलझने बढ़ने के योग बन रहे है l आर्थिक मामलों में अभी संभलकर ही चलने में भलाई है l माह के उत्तरार्ध के बाद का समय आपके लिए लाभकारी है l

माह को उत्तम बनाने हेतु उपाय : हनुमान चालीसा का पाठ करें l

धनु राशि (ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)

इस माह राशी स्वामी गुरु वक्री होकर केतु के साथ राशी से ही भ्रमण कर रहा है जो की आपके व्यवहार में कुछ क्रोध और दूसरे परिवर्तन दे रहा है l हांलाकि स्वगृही गुरु आपकी सभी समस्याओं से रक्षा भी कर रहा है l महिला वर्ग से शत्रुता कष्टकर साबित हो सकती है अत: संभलकर चले l वैवाहिक जीवन में राहू और वक्री बुध कुछ कष्ट दे सकते है l जीवनसाथी का स्वास्थ्य भी चिंता का कारण बन सकता है l आर्थिक दृष्टि से समय ठीक ठाक है परन्तु माह के उत्तरार्ध में आपको आर्थिक मामलों में जोखिम नहीं उठाना चाहिए l

माह को उत्तम बनाने हेतु उपाय : ॐ नम: शिवाये का जाप करें l

मकर राशि (भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)

इस माह आप अपने दायत्वों के निर्वाह में व्यस्त रहेंगें l अनावश्यक खर्चे भी बने रहेंगें l प्रेम प्रसंगों के लिहाज से समय आपके पक्ष का चल रहा है l शिक्षा और संतान सम्बन्धी चिन्ताओं का निराकरण होगा l शत्रुवर्ग निर्बल होगा l मित्रों का व्यवहार चिंता का कारण बनेगा l आपकी राशी में स्थित वक्री शनि आपके स्वास्थ्य के लिहाज से लाभकारी परन्तु जीवनसाथी के स्वास्थ्य के लिए चिंताजनक रहेगा l वैवाहिक जीवन में भी समस्याए बनी रहेगी l माह के उत्तरार्ध उपरांत आपको व्यापारिक प्रस्ताव प्राप्त होंगें l

माह को उत्तम बनाने हेतु उपाय : माँ लक्ष्मी जी की उपासना करें l

कुम्भ राशि (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)

इस माह अत्यधिक कठिनाइयों के बावजूद भी आपके मन में शांति बनी रहेगी l प्रेम संबंधों में परेशानिया उभरेगी l शिक्षा व संतान सम्बन्धी भी परेशानिया बनी रहेगी l वाणी भाव में बैठे मंगल ग्रह को शनि की तीसरी दृष्टि के कारण कडवे बोल बोलने से बचे l स्वास्थ्य का पाया भी कमजोर चल रहा है l अपने खान पान पर जरूर ध्यान दें अन्यथा पेट सम्बन्धी समस्याए परेशान करेंगीं l आर्थिक उन्नत्ति के अवसर मिलेंगें l जमीन, मकान और वाहन सम्बन्धी अच्छे योग बन रहे है l

माह को उत्तम बनाने हेतु उपाय : माँ दुर्गा जी की पूजा आपके कष्टों से मुक्ति दिलाएगी l

मीन राशि (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)

इस माह कुछ संघर्ष के साथ सभी कार्य समपन्न होगें l कार्यक्षेत्र में बैठे वक्री गुरु और लाभ भाव में बैठे वक्री शनि कुछ बदलाव के साथ कार्यक्षेत्र व इनकम में बढोत्तरी के संकेत दे रहे है l अपने गुस्से और जिद्दी स्वाभाव पर नियंत्रण रखें l जमीन मकान सम्बन्धी विवाद बढ़ने के योग बन रहे है l माह के पूर्वार्द्ध में मानसिक चिंताए बनी रहेगीl माह के उत्तरार्ध में चिंताओं में कुछ कमी जरुर आएगी l मित्रों का सहयोग मिलेगा l सामाजिक कार्यों में भागीदारिता बढेगी l अपने गुस्से पर नियंत्रण रखें l

माह को उत्तम बनाने हेतु उपाय : शिवजी या माँ काली की उपासना करें

Also Read on(Source) : Punjab Kesari

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here